प्रदर्शन कर रही लड़की को दबोचने वाले दारोगा सस्पेंड

0
489

पटना.बेली रोड पर प्रदर्शन कर रही छात्रा को गलत तरीके से पकड़ने के आरोप में एक दारोगा सुनील चौधरी को जोनरल आईजी ने सस्पेंड कर दिया। इससे पहले आईजी ने कोतवाली थाने का निरीक्षण कर पूरे मामले की समीक्षा किया था।महिला पुलिसकर्मी की उपस्थिति में छात्रा को दबोचा…

– दारोगा सुनील चौधरी की करतूत से बुधवार को पूरे पुलिस महकमे शर्मसार हो गया था।
– महिला पुलिसकर्मियों की मौजूदगी के बावजूद इस पुलिस के जवान ने प्रदर्शन कर रही स्टूडेंट को बुरी तरह से दबोच लिया।
– बेशर्मी की हद तो तब हो गई, जब वहां मौजूद अफसर उसे रोका फिर वो वह नहीं माना।
– लड़की को उसने पीछे से कसकर दबोच रखा था।
री-चेकिंग के लिए हो रहा था प्रदर्शन

– इंटर एग्जाम की कॉपियों की री-चेकिंग के लिए बुधवार को तारामंडल के पास बेली रोड को वामपंथी संगठनों की अगुआई में जाम किया जा रहा था। इस दौरान प्रदर्शनकारी और पुलिस के बीच नोकझोंक, हाथापाई और लाठीचार्ज तक हो गया।
– बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को बुला लिया गया। महिला पुलिसकर्मी लड़कियों को रोक रही थीं और पुरुष पुलिसकर्मी लड़कों को।
दारोगा ने छात्रा को दबोचा, आईजी ने किया सस्पेंड
– इसी बीच, एक लड़की को दारोगा ने दबोच लिया।
– इस मामले की सूचना मिलने के बाद जोनरल आईजी नयैर हसैन कोतवाली थाने का निरीक्षण किया।
– आईजी ने डीएसपी लॉ इन ऑर्डर और कोतवाली थाना प्रभारी के साथ पूरे मामले की जांच किया।

 

– इसके बाद उन्होंने आरोपी दारोगा सुनील चौधरी को सस्पेंड कर दिया।
– आईजी जोनरल नयैर हसैन ने मामले की सूचना मिलने के बाद पूरे मामले की जांच का आदेश दे दिया था।
– आईओ सुनील चौधरी की ओर से ठीक से रिपोर्ट नहीं देने के आरोप में आईजी ने कोतवाली के दारोगा सुनील चौधरी को सस्पेंड कर दिया।
लाठीचार्ज में कई घायल
चक्काजाम के दौरान पुलिस ने स्टूडेंट्स पर लाठीचार्ज किया। इसमें कई स्टूडेंट्स घायल हो गए। एआईएसएफ के राज्य सचिव सुशील कुमार का हाथ टूट गया। उन्हें पीएमसीएच में भर्ती कराया गया है। लाठीचार्ज के बाद बेली रोड पर अफरातफरी मच गई। झड़प में कुछ पुलिसकर्मियों को भी चोटें आई हैं।
8 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स इंटर में फेल

– इंटर के रिजल्ट में इस बार 8 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स फेल हो गए थे। इसके विरोध में आंदोलन लगातार जारी है। 8 वामपंथी स्टूडेंट्स यूनियन ने 12 जून से भूख हड़ताल शुरू की है।
– वे स्क्रूटिनी बंद कर कॉपियों की री-चेकिंग करने, उसका रिजल्ट पब्लिश करने और पूरे मामले की हाई लेवल ज्यूडिशियल इन्क्वायरी की मांग कर रहे हैं।
– रिजल्ट निकलने के बाद से हर दिन स्टूडेंट्स प्रदर्शन कर रहे हैं और पुलिस उन्हें लाठीचार्ज कर खदेड़ रही है। इस मसले का कोई हल निकलता नहीं दिख रहा है।
– मंगलवार देर रात दो स्टूडेंट्स की तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। गुस्साए स्टूडेंट्स बैनर-पोस्टर लेकर सड़क पर बैठ गए और नारेबाजी करने लगे।
– बुधवार को प्रदर्शन के दौरान भीषण गर्मी में जाम से लोगों को दिक्कतें हुईं, इस दौरान गाड़ियों की लंबी कतार लग गई। राहगीरों की स्टूडेंट्स से बहस भी हुई।
– जाम की जानकारी मिलने पर कोतवाली और अन्य थानों की पुलिस से स्टूडेंट्स की नोकझोंक हुई। पहले पुलिस ने उन्हें समझाने का प्रयास किया, लेकिन स्टूडेंट्स नहीं माने। इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज कर छात्रों को खदेड़ दिया।
– स्टूडेंट्स के प्रदर्शन के बाद वाम संगठनों की एजुकेशन सेक्रेटरी आरएल चोंग्थू से बातचीत हुई। लेकिन यह बेनतीजा रही।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here