महान सम्राट अशोक जन्माष्टमी महोत्सव आज पटना में संपन्न

0
588

पटना रू श्द बुद्धिस्ट सोसायटी ऑफ इण्डियाश् बिहार शाखा द्वारा 2360वीं महान सम्राट अशोक जन्माष्टमी महोत्सव 2016 का आयोजन आज पटना में किया गया। इस कार्यक्रम का उद्धाटन माननीय समाज कल्याण मंत्री श्रीमति मंजू वर्मा ने किया और कार्यक्रम की अध्यक्षता ब्रजकिशोर सिंह कुशवाहा ने की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि आज से 2300 वर्ष पूर्व संपूर्ण भारत एक सूत्र में बंधा था, जिसका श्रेय मौर्य वंश के संस्थापक चंद्रगुप्त मौर्य को है। बाद में चंद्रगुप्त मौर्य के पौत्र सम्राट अशोक ने संपूर्ण एशिया महादेश पर राज किया। उन्होंने कहा कि भारत का इतिहास गवाह है कि मौर्यवंशियों के अलावा अखंड भारत पर राज करने वाला कोई शासक नहीं हो सका औश्र ना ही भविष्य में ऐसी को संभावना दिखती है।

श्री कुशवाहा ने कहा कि मौर्य वंश के पराजय के बाद ही भारत विखंडित हो गया। उन्होंने कार्यक्रम में शामिल लोगों के समक्ष अखंड भारत निर्माण का मुहीम चलाने की बात कही और इसके लिए कुछ प्रस्ताव को भी सरकार के समक्ष रखा। इस प्रस्ताव के अनुसार, बोध गया स्थित काल चक्र मैदान में महान सम्राट अशोक की प्रतिमा लगाने की बात कही। साथ ही बोध गया स्थित महाबोधी विहार की प्रबंध व्यवस्था पूर्ण रूप से बौद्धों के हाथ में सौंपने की मांग की। इसके अलावा, पटना शहर के प्रमुख मार्गो पर सम्राट अशोक प्रवेश द्वार, पटना का नाम फिर से पाटलिपुत्र और सम्राट अशोक शोध संस्थान की स्थापना की भी मांग की। कुम्हरार स्थित सम्राट अशोक का किला दर्शनार्थियों के लिए खोलने और सम्राट अशोक के जन्मदिन पर राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने की मांग की।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में सहकारित मंत्री बिहार, श्री आलोक मेहता, नगर विकास मंत्री श्री महेश्वर हजारी, विधायक सत्येंद्र सिंह कुशवाहा, अभय कुमार सिन्हा, अशोक कुमार, सांसद संतोष कुशवाहा और विधान पार्षद रणवीर नंदन उपस्थित थे। इस दौरान अतिथियों ने अखंड भारत के वापसी के लिए शपथ ली और भारत को फिर से बुद्ध्मय बनाकर दया, करूणा, मैत्री एवं सहिष्णुता का वातावरण बनाने का प्रणाम लिया। इस अवसर पर राज्य भर के पंचायत प्रतिनिधियों को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। वहीं, 20 अंबेदकर वादियों को अंबेदकर रत्न से भी सम्मानित किया गया। सम्मान पाने वालों में हैं – ई0 अमृत राम, विभा देवी (पूर्व मेयर, गया), कैलाश पासवान, नीतीश चंद्र (वास्तु विद), राज चैहान (अभिनेता) संदेश यादव (समाज सेवी) सनोज मिश्रा (निर्देषक), आदित्य मोहन (अभिनेता), रामाषंकर प्रजापति (निर्माता), सुदर्षन सिंह (समाज सेवी), खुशबू उत्तम (सिंगर), रमेश सिंह (अभिनेता), प्रीति सिन्हा (अभिनेत्री), सुषमा कुमारी, प्रेम संलथलिया, मुन्ना दूबे, दीप श्रेष्ठ, संजू सोलंकी,ं सर्वेश कश्यप, आदि।

इसे पहले द बुद्धिस्ट सोसायटी ऑफ इण्डिया, अ0भा0स0 अशोक विचार मंच, ऑल इंडिया भिक्खू संघऔर समता सैनिक दल के सदस्यों ने दारोगा प्रसाद राय स्मृति भवन, दारोगा प्रसाद राय पथ, पटना से पटना उच्च न्यायालय स्थित अंबेदकर प्रतिमा श्रीनाथ सिंह बौद्ध के नेतृत्व में एक शांति सद्भावना मार्च भी निकाला गया। मार्च में शामिल लोगों के हाथ में भगवान बुद्ध और बाबा साहब अंबेदकर के संदेश लिखे तख्ते थे। वहां, बाबा साहेब भीम राम अंबेदकर के 125वें जयंती के अवसर पर पूर्व किसान आयोग अध्यक्ष सी पी सिन्हा, ब्रजकिशोर सिंह कुशवाहा, नागमणि, संतोष कुशवाहा आदि समेत कई लोगों ने उनके प्रतिमा पर माल्यापर्ण किया।